राशिफल

Kumbh 2019: अमेरिका से आए साधु बाबा ने बताया इसलिए कुंभ में स्नान के लिए आया हूं

प्रयागराज। आकाश में अंधेरा था। ठंड से लोग कांप रहे थे। कृत्रिम दूधिया रोशनी दिन का अहसास दे रही थी, लेकिन लाखों लोगों का विश्वास उन्हें बलवान बना रहा था। ढोल-नगाड़ों के बीच पंचायती अखाड़ा महानिर्वाणी के भक्त अपने गुरुओं के साथ जयकारे लगाते हुए चल रहे थे। गंगा स्नान के बाद एक साधु अपने भक्तों को आशीर्वाद दे रहे थे। महामंडलेश्वर की उपाधि प्राप्त यह साधु इस पवित्र स्नान के लिए अमेरिका से आए थे।

महामंडलेश्वर स्वामी सत्यमित्रानंद महाराज न्यूयॉर्क से विशेष तौर पर कुंभ के पहले स्नान में शामिल होने के लिए भारत आए थे। संगम स्नान के बाद उनके चेहरे पर प्रसन्नता और संतोष था। वह बोले, ‘मेरे समुदाय के लोग अमेरिका में सनातन धर्म का प्रचार करते हैं। यहां आना एक पवित्रता का अहसास देता है। ऐसी भव्यता कभी नहीं दिखी।’

Kumbh 2019: पहले दिन कायम रहीं ये परंपराएं तो इन टूटी परंपरा टूटी परंपराओं ने खींचा ध्यान 

Kumbh Mela History: इसलिए 12 साल बाद लगता है कुंभ

संगम के लिए पैदल ही घर से निकल पड़े
इसी तरह तड़के 4:30 बजे स्नान के बाद अपने घर बेनीगंज लौट रहे तीन दोस्त बेहद खुश थे। वे रात में ही घर से निकले और पैदल संगम तट पहुंचे। प्रशांत पांडेय और उनके दोस्त अनिकेत सोनकर ने कहा कि वे पहली बार कुंभ में स्नान के लिए आए। इस स्नान के बाद कुछ ऐसा महसूस हुआ, जिसके लिए सिर्फ शांति शब्द का इस्तेमाल किया जा सकता है।

Source : indiatimes.com

Related Articles