राशिफल

प्रियंका की कुंडली में राजलक्षण योग, क्या कांग्रेस को दिला पाएंगी सत्ता?

सचिन मल्होत्रा, ज्योतिषशास्त्री

साल 2014 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस को बुरी तरह हार का सामना करना पड़ा। कांग्रेस पार्टी के अंदर ही राहुल गांधी के नेतृत्व को लेकर सवाल उठने लगे थे और नेतागण प्रियंका गांधी को पार्टी में बड़ी जिम्मेदारी दिए जाने को लेकर आवाज उठा रहे थे। हाल ही राहुल गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस को तीन राज्यों में जीत का बड़ा तोहफा मिला है जिससे पार्टी का विश्वास मजबूत हुआ है लेकिन लोकसभा चुनाव में मोदी और शाह की जोड़ी को टक्कर दे पाना राहुल के लिए अकेले की बात नहीं लग रही थी। इधर सोनिया गांधी की सेहत भी ठीक नहीं चल रही है ऐसे में बीजेपी की अजेय जोड़ी को टक्कर देने के लिए कांग्रेस पार्टी ने ब्रह्मास्त्र के तौर पर प्रियंका गांधी को राजनीति के मैदान में उतार दिया। लेकिन देखना दिलचस्प होगा कि क्या मोदी और अमित शाह की जोड़ी को भाई-बहन की जोड़ी सत्ता के बाहर कर पाएगी और कांग्रेस की चमक फिर लौटा पाएगी। आइए देखें ज्योतिषीय आंकड़े और गणित क्या कहते हैं, क्या प्रियंका दिला पाएंगी कांग्रेस को सत्ता।

प्रियंका की कुंडली में यह शुभ योग

12 जनवरी 1972 को शाम पांच बजकर पांच मिनट पर दिल्ली में जन्मीं प्रियंका गांधी का जन्म लग्न मिथुन है और चंद्रमा इनकी कुंडली में अपनी नीच राशि वृश्चिक में छठे भाव में बैठे है। प्रियंका गांधी की कुंडली में सप्तम भाव में बैठे गुरु और सूर्य ‘राजलक्षण योग’ का निर्माण कर रहे हैं।

इसलिए युवाओं में बढ़ेगा प्रियंका का प्रभाव

लग्नेश बुध इस योग में सम्मिलित होकर उनको चहरे पर मुस्कुराहट के साथ वाक्पटुता भी प्रदान कर रहे हैं। दशम भाव में मंगल की दृष्टि लग्न में होने के कारण प्रियंका गांधी की लोकप्रियता युवा मतदाताओं में बढ़ने की संभावना अच्छी है। किंतु वर्तमान में शुक्र की महादशा चल रही है, जो कि उनकी कुंडली में भाग्य स्थान यानी नवम भाव में स्थित होकर ‘पाप-कर्तरी’ योग बना रहे हैं।

हथेली देखर जानिए क्या आपको मिल पाएगी सरकारी नौकरी

प्रियंका गांधी पर शनि की साढ़ेसाती का असर

इनकी अंतर्दशा शनि की चल रही है जो कि बाहरवें घर में कमजोर स्थिति में है। प्रियंका गांधी शुक्र में शनि की इस कमजोर दशा के साथ-साथ शनि की साढ़ेसाती का भी सामना कर रही हैं। साल 2013 से उनकी साढ़ेसाती चल रही है जिसने उनके पति रॉबर्ट वाड्रा को हमेशा विवादों में रखकर इनको परेशान किया है। शनि की साढ़ेसाती अब उनकी कुंडली में अगले वर्ष जनवरी 2020 में समाप्त हो रही है। ऐसे में उनको इन लोकसभा चुनावों में कोई विशेष सफलता मिलने की उम्मीद कम ही दिखाई देती है।

2019 का वार्षिक राशिफल, देखें किन-किन राशियों के चमकेंगे सितारे

राजनीति में चमकेगा सितारा

किंतु कुंडली में मौजूद सूर्य और गुरु का राजलक्षण योग तथा शनि-चंद्रमा का दृष्टि संबंध उनकी लोकप्रियता में इजाफा करेगा। ये दोनों योग तथा वर्ष 2020 में आ रही शुक्र में बुध की विंशोतरी दशा उनको राजनीति में तेजी से तरक्की देगी। वर्ष 2022 के उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनावों में वह सूबे में कांग्रेस की ओर से प्रमुख चेहरा होंगी।

अभी सत्ता के लिए करना होगा संघर्ष

लेकिन वर्तमान ग्रहदशा कुछ विशेष लाभ के संकेत नहीं दे रहे हैं। जिस उम्मीद से कांग्रेस ने इन्हें पूर्वी उत्तर प्रदेश की कमान सौंपी है उस उम्मीद को पूरी कर पाना अभी इनके लिए कठिन है। लेकिन 2020 के बाद अचानक ही कांग्रेस के सितारे फिर से चमकने शुरू होंगे जिसमें प्रियंका का बड़ा योगदान रहेगा।

भविष्यवाणी ज्योतिषी की अपनी गणना और आकलन पर आधारित है

Source : indiatimes.com

Related Articles